‘THIS IS SHE’ : समाज सेवी गृहणियों को मिलेगी एक नई पहचान

औरत एक ऐसा शब्द जिसे इस सृष्टि का रचियता कहा जा सकता है. रचियता जो रचना करती है मनुष्य की, समाज की और संस्कारों की. हमारे समाज में ऐसी कई रचनात्मक महिलाएं है जो न केवल अपनी घर-गृहस्थी अच्छे से चला रही है बल्कि समाज के लिए भी आगे बढ़कर निस्वार्थ भाव से काम कर …

‘THIS IS SHE’ : समाज सेवी गृहणियों को मिलेगी एक नई पहचान Read More »

Pandemic Love; Emerging Trends in the Condom Industry

Manforce Condoms, the largest selling brand in India leads the sales amongst all competitors Manforce condoms, being one of the largest selling brands in India has seen its due share of fluctuations in sales during the pandemic, like any other brands in the industry. While initially the unprecedented situation had triggered large-scale anxiety amongst individuals …

Pandemic Love; Emerging Trends in the Condom Industry Read More »

Troopel.com #VichitraKintuSatya सीरीज : इन कहानियों को पढ़ आपको भूतों पर यकीन हो जाएगा

चमत्कार, जादू या भूत ऐसे शब्द है, जिन पर हम विज्ञान के दौर में भरोसा नहीं कर सकते है. अगर हमारी आखों के सामने भी ऐसा ही कुछ हो तो हम उसके पीछे के साइंस को समझने में लग जाते है. या यह कह देते है कि इसकी जाँच होनी चाहिए… तभी हम किसी निष्कर्ष …

Troopel.com #VichitraKintuSatya सीरीज : इन कहानियों को पढ़ आपको भूतों पर यकीन हो जाएगा Read More »

भारत का घुमन्तु समुदाय आखिर कब तक अपने होने न होने का सबूत देता रहेगा? – Troopel.com

भारत में घुमंतू समुदायों की आबादी 13 करोड़ से अधिक है, लेकिन पिछले 74 सालों में सरकारों की नीतिगत शून्यता और संस्थागत विफलता ने इस समाज की समस्याओं को चरम पर पहुंचा दिया है। देश में घुमंतू समुदायों की स्थिति में गिरावाट दशकों से जारी है, जिसके चलते यह समाज हर स्थिति में भारत के …

भारत का घुमन्तु समुदाय आखिर कब तक अपने होने न होने का सबूत देता रहेगा? – Troopel.com Read More »

‘आत्मनिर्भर युवा 2′ : देश का युवा बदलेगा अपनी तकदीर और देश की तस्वीर

आत्मनिर्भर एक ऐसा शब्द जो इंसान को अपने आप में ही पूर्ण बनाता है. हर छोटी से लेकर बड़ी उम्मीद तक हम खुद पर ही निर्भर रहते है. खुद पर निर्भर होने के साथ-साथ हम अपनी जरूरतों को भी पूरा कर पाते है. अगर आज के दौर की बात करें तो देश में नौकरियां काफी …

‘आत्मनिर्भर युवा 2′ : देश का युवा बदलेगा अपनी तकदीर और देश की तस्वीर Read More »

देश में कोरोना के चलते श्मशानों तथा कब्रिस्तानों के बदतर हो रहे हालातों पर Troopel.com ने छेड़ी मुहीम

इन दिनों कोरोना के चलते श्मशानों तथा कब्रिस्तानों के लगातार बद से बदतर हो रहे हालातों को देखते हुए देश के तेजी से उभरते ऑनलाइन न्यूज कम व्यूज प्लेटफॉर्म Troopel.com ने इनमें सुधार लाने की पहल की है। चैनल लगातार ऑनलाइन पोल चला रहा है, जिसका जनता से भरपूर समर्थन मिल रहा है। कोरोना के …

देश में कोरोना के चलते श्मशानों तथा कब्रिस्तानों के बदतर हो रहे हालातों पर Troopel.com ने छेड़ी मुहीम Read More »

मेरी लाडो… .. !!! याद रखें, जब आप एक लड़की को मारते हैं, तो आप कई अन्य लोगों के जीवन की ज्योति भी जलने से पहले ही बुझा देते हैं।

मुझे गर्व है कि मै एक बेटी का पिता हूं ‘ बेटी हुई है।‘ देवी पूजने वाला हमारा भारतीय समाज इन तीन शब्दों को सुनकर ही जन्मी उस नन्ही सी जान की सांसे तय कर देता है। आपको पढ़कर हैरानी जरूर होगी, लेकिन जिसे हम सभ्य समाज का दर्जा देते हैं वो समाज हर साल …

मेरी लाडो… .. !!! याद रखें, जब आप एक लड़की को मारते हैं, तो आप कई अन्य लोगों के जीवन की ज्योति भी जलने से पहले ही बुझा देते हैं। Read More »

Amazon India Boosts its Operations Network with the launch of a Second Fulfilment Center in Lucknow

Doubles storage space in Uttar Pradesh supporting more than 70,000 sellers Will help sellers reach out to a larger customer base and generate thousands of local job opportunities, ahead of the festive season Amazon India today announced the launch of itssecondfulfilment centre (FC) and expansion of an existing FC, in the State. With a storage capacity …

Amazon India Boosts its Operations Network with the launch of a Second Fulfilment Center in Lucknow Read More »

एक नाम, अतुल मलिकराम, जो राजनीतिक विश्लेषक के लिए जाना जाता है.

आज के दौर में राजनीति और उसकी गरिमा बहुत ही पिछड़ गई है. भाषण से लेकर व्यक्तिगत स्तर तक राजनेता एक-दूसरे पर छींटाकशी करते नहीं थकते. संसद भवन के भीतर जो मर्यादा पूर्व प्रधानमंत्री प. ज्वाहर लाल नेहरू और अटल बिहारी वाजपेयी जी ने स्थापित की थी, आज वह उस लोकतंत्र के मंदिर से क्षीण …

एक नाम, अतुल मलिकराम, जो राजनीतिक विश्लेषक के लिए जाना जाता है. Read More »

Troopel.com #Shaan-E-Kisaan Series – भारत की अर्थव्यवस्था में किसानों और ग्रामीण भारत का रोल

दशक: सरकारी नीतियां या मानसून, किसने बरसाए किसानों पर सबसे ज्यादा कोड़े? “2013 -14 के दौरान भारत की कृषि विकास दर 3.7 प्रतिशत तक हुआ करती थी, लेकिन मौजूदा समय में देश की कृषि विकास दर 0.2 प्रतिशत पर पहुंच गई है. वहीँ आर्थिक सर्वेक्षण 2014 में ये बताया गया था कि 2014 में ग्रामीण …

Troopel.com #Shaan-E-Kisaan Series – भारत की अर्थव्यवस्था में किसानों और ग्रामीण भारत का रोल Read More »